Mineral Word Means in Hindi with Full Explain

दोस्तो आज हम जानेगे डिक्शनरी के मिनरल मीनिंग के बारे मे बहुत सी बाते जो आपके दिमाग के सभी पहलुओ को अच्छी तरह सुलझा देंगे। हमने इस पोस्ट मे कुछ छोटे ऑर विस्तार वर्णन को उदाहरण के साथ इनके प्रभाव तथा उपयोग को बेहतर रूपो मे आपके सामने रखने की कोशिश की है। 

उम्मीद है इस जानकारी को आखिर तक रीड करने के बाद आपके सभी कान्सैप्ट ठीक होकर पूरा फायदा उठा सकोगे। यहाँ हमने इनकी सभी स्थिति को ध्यान रखते हुये समाज ऑर देश मे चल रहे बदलावो के अनुभव को बतलाया है। अब जल्दी से आगे बदते है। 

Mineral Word Means in Hindi with Full Explain :


Mineral Means in Hindi :

धातु, 
पदार्थ, 
प्राक्रतिक 

हमे आशा है अब तक ऊपर के सभी शॉर्ट मतलव रीड करके उपयोग भी जरूर ही किया होगा। हालाकि ये संक्षेप अर्थ बड़ी ही सरलता से याद होकर कही भी जरूरत के अनुसार इस्तेमाल कर सकते है। इनामे एक समस्या ये होती है कि इनको जितनी जल्दी दिमाग याद करता है उतने ही कम समय मे इनको भूला दिया जाता है। 

इस तरह की परेशानी को ठीक करने हेतु ही हमारे द्वारा यह इतना बड़ा आर्टिक्ल भिन्न अर्थो को लेकर बताया है इसे लास्ट तक रीड करके सभी जानकारी अच्छी तरह आपके दिमाग मे बैठ जाएगी। फिर अपनी जरूरत के अनुसार काही भी यूज कर पाओगे। चलिये आगे बड़कर सभी जानकारी आपको देते है। 


What is the Definition of Mineral in Hindi : 


प्रत्येक वर्ड का विस्तार अर्थ जानिए - 

- धातु, दोस्तो आप सभी इससे अच्छे से अवगत होंगे ही क्योकि आप बचपन से अपने आस - पास इन चीजों के उपयोग तथा प्रभावों को देखते ही आ रहे है। आज हमारे चारो ओर जितने भी निर्माण कार्य होते दिखाई दे रहे उनमे कही ना कही किसी तरह की धातु जरूर ही उपयोग मे लायी जाती है। 

देखा जाये तो आज से पचास साल पहले घरो ऑर बहुमंजिला इमारतों को बनाने हेतु अलग तरह की चीजों को उपयोग लाया जाता था लेकिन आज टेक्नालजी के चलते इनमे बहुत सुधार हुये जो जिंदगी को ऑर बेहतर बनाने के साथ आसान करती है। 

- पदार्थ, इसे भी पढ़ते ही समझ चूके होंगे। इसे हम अनेकों रूपो मे लेकर समझ सकते है। उदाहरण के तौर पर हमारे समाज मे अनेकों लोग रहते है वे लगातार कुछ ना कुछ काम अपने घर या खेतो के लिए करते रहते है। दोस्तो इस शब्द को खाने के पदार्थ से भी जोड़कर देख सकते है। 

आज टेक्नालाजी के चलते घर बैठे ही बहुत से पकवान बनाने की रेसिपी को जानकर बड़िया खाने की चीजे बनाई जाती है। आजकल भारतीय पकवान के अलावा विदेशी खाने की चीजे भी भारत मे लोग अपनी पसंद के अनुसार खाना चाहते है। उदाहरण के लिए आज भारत मे शादियो मे अनेकों तरह की खाने की सामग्री मिलती है जो शादी के ऊपर निर्भर करता है कि कितना पैसा खर्च के लिए रखा गया। 

- प्राक्रतिक, मेरे खयाल से आपको इस अर्थ के बारे मे बताने की भी जरूरत नही क्योकि हम सभी पैदा होने के बाद से ही इस धरती ऑर आस - पास के वातावरण से जुड़े है ऑर देखा जाये तो हमारा जीवन इस प्रक्रति के बिना संभव नही है। दोस्तो हमे बाहरी वातावरण से ही जीने के लिए सभी जरूरी चीजे फ्री मिलती है। 

कहा भी जाता है हमारा शरीर आस - पास के वातावरण का ही हिस्सा है जो एक स्थिति के चलते परिवर्तन के साथ बदलता रहता है। ऐसा माना जाता है कि जो इंसान प्रक्रति के बीच जुड़ा रहता है वो शांतिपूर्ण जीवन को जीता हुआ आगे बड़ता रहता है। 

सभी अर्थो के प्रभवों को अच्छे से पढ़े -

- धातु, हमने इसके बारे मे पूरी चर्चा ऊपर कर चूके है। यह आज के मानव जीवन का अभिन्न हिस्सा होने के साथ इसके बिना वाकि काम संभव नही हो सकते है। आज इसकी आस - पास कि जितनी भी चीजे है उनमे कही ना कही धातु का उपयोग अवश्य ही होता है। 

देखा जाये तो धातु के बिना कुछ काम तो बिलकुल भी संभव नही होते है। दोस्तो यहाँ स्थित सभी वस्तुओ का प्रभाव होने के चलते धातु के भी कुछ सकारात्मक तथा नकारात्मक पहलुओ को समय के साथ देखा जा सकता है। ये देश ऑर समाज मे दोनों स्थिति के अनुसार प्रभावों को दर्शाते है। 

- पदार्थ, दोस्तो हम सभी अपनी जिंदगी मे जरूरत के अनुसार कई सारे भिन्न पदार्थ समय ऑर स्थान के चलते उपयोग किए जाते रहते है। ये पदार्थ भिन्न लोगो के शरीर के अनुसार अनेकों तरह के प्रभाव डालते है। देखा जाये तो पदार्थ के कई रूप होते है जो सकारात्मक तथा नकारात्मक प्रभाव को जिंदगी ऑर हैल्थ पर दर्शाते है। हमने ऊपर इसे काफी विस्तार ऑर संक्षेप मतलवों के साथ व्यक्त किया है। 

- प्राक्रतिक, हम हमेशा से कहते आ रहे कि चारो तरफ का वातावरण मानव जीवन के लिए बहुत जरूरी होता है। यहाँ दोनों स्थिति के प्रभाव देख सकते है याने प्रक्रति कुछ मामलो मे आपको फायदा देती है तो दूसरी ओर मानव द्वारा अपने कार्यो को सम्पन्न करने हेतु कई सारे बदलाव किए गए जो चारो तरफ के वातावरण को प्रभावित करता है। इनके बहुत से हानिकारक प्रभाव आपने आए दिन न्यूज़ पेपर मे पढ़ा ही होगा। देखा जाये तो इनके विपरीत प्रभाव भी देखे जाते है। 

सभी शब्द के बड़िया उपयोग जाने - 

- धातु, आज के समय मे आस - पास की चीजों मे इसका सबसे ज्यादा उपयोग किया जाता है इसे इस तरह समझ सकते है। 

- पदार्थ, यह खाने - पीने की चीजे या कोई भी जरूरी चीजे जो मानव द्वारा उपयोग मे ली जाती है। इसके अंतर्गत ले सकते है। 

- प्राक्रतिक, इसे सीधे तौर पर हमारे चारो तरफ के वातावरण को लेकर समझ सकते है। ऊपर इसे अच्छी तरह समझाया है। 

दोस्तो अभी तक इस पोस्ट को अंत तक अच्छी तरह पढ़कर इसका फायदा उठा ही लिया होगा। इससे किसी तरह का फायदा मिला तो हमे कमेंट करके अपने मन की सभी बाते बताए। जिससे हमे आगे अच्छी पोस्ट के लिए उत्साह मिलता है। किसी तरह की सलाह भी है तो हमे अवश्य लिखे हम उस पर चर्चा करेंगे। इसी तरह हमारे साथ जुड़े रहे ऑर दोस्तो को भी यह जानकारी भेजे ताकि उनका भला हो सके। चलिये अब नयी पोस्ट के साथ फिर मिलेंगे।  

Post a comment

0 Comments